chhattisgarh latest gk question 2021 | छत्तीसगढ़ ताजा सामान्य ज्ञान 2021

chhattisgarh latest gk question 2021 | छत्तीसगढ़ ताजा सामान्य ज्ञान 2021

chhattisgarh latest gk question 2021
chhattisgarh latest gk question 2021 | छत्तीसगढ़ ताजा सामान्य ज्ञान 2021
  • भारत के 26 वें राज्य छत्तीसगढ़ का प्राचीन संदर्भों में छत्तीसगढ़ के नाम से उल्लेख नहीं मिलता प्राचीन काल में छत्तीसगढ़ दक्षिण कोसल  का एक हिस्सा था दक्षिण कोसल  के अंतर्गत वर्तमान छत्तीसगढ़ का मैदानी भाग एवं उड़ीसा के हिस्से शामिल थे कुछ विद्वानों ने इसका नाम कोसल  तथा महाकोसल बताया है
  • प्राचीन काल में बस्तर क्षेत्र को चक्रकोट  एवं दंडकारण्य के नाम से जाना जाता था छत्तीसगढ़ शब्द का सर्वप्रथम प्रयोग संभवत खैरागढ़ राज्य के राजा लक्ष्मी निधि के चारण कवि दल राम राव ने 1487 में किया था छत्तीसगढ़ शब्द का राजनीतिक संदर्भों में प्रयोग पहली बार राजा राज सिंह 1689 से 1712 ईसवी के राज आश्रय में रतनपुर के कवि गोपाल मिश्रा ने अपनी कृति खूब तमाशा में रतनपुर राज्य के लिए किया
  • मुगल काल में छत्तीसगढ़ के लिए रतनपुर राज्य शब्द का प्रयोग हुआ है मराठा ऐतिहासिक संदर्भ में छत्तीसगढ़ का प्रथम उल्लेख वर्ष 1707 के सनद में मिलता है जिसका उल्लेख काशीनाथ गुप्ते ने अपनी रचना नागपुर कर भोंसले  भोषलियाची  बखर में किया है
  • बाबू रेवाराम ने 1896 ईस्वी में विक्रम विलास नामक अपने ग्रंथ में इस क्षेत्र को छत्तीसगढ़ की संज्ञा दी ब्रिटिश काल में पुरातत्ववेत्ता  कनिंघम ने छत्तीसगढ़ के लिए महाकौशल शब्द का प्रयोग किया था ब्रिटिश काल में बिलासपुर गजेटियर में छत्तीसगढ़ शब्द का प्रयोग की जानकारी मिलती है 1910 के बिलासपुर डिस्टिक गैजेटियर के अनुसार कैप्टन ब्लंट ने 1795 में छत्तीसगढ़ के राजामुंदरी की यात्रा की तथा अपने विवरण में छत्तीसगढ़ का उल्लेख किया
  • बेगलर ने बताया कि बिहार की एक जनश्रुति के अनुसार जरासंध के काल में छत्तीस चर्मकार परिवारों ने जरासंध के राज्य से पृथक इस चित्र में नए राज्य की स्थापना की थी जो छत्तीस घर कहलाया और बाद में छत्तीसगढ़ के नाम से जाना गया हीरालाल के अनुसार कलचुरी जो चेदिवंश भी कहलाते थे के नाम पर यह क्षेत्र चेटीशगढ़ चलाएं बाद में यही नाम छत्तीसगढ़ हो गया
  • छत्तीसगढ़ का नाम पुराने यहां स्थापित 36 गढ़ या किलों के नाम पर हुआ कलचुरियो के प्रशासन में गढ़ महत्वपूर्ण प्रशासन इकाई था अतः प्रशासनिक महत्व की दृष्टि से इस क्षेत्र का नाम छत्तीसगढ़ पड़ना स्वाभाविक प्रतीत होता है  गढ़ की जानकारी देने वाले अभिलेखों में ब्रह्मा देव का खल्लारी शिलालेख महत्वपूर्ण है
  • एक मान्य  सूची के अनुसार शिवनाथ नदी के उत्तर में कलचुरियो की रतनपुर शाखा के अधीनस्थ 18 गढ़  और दक्षिण में रायपुर शाखा के अधीन 18 गढ़ थे स्वतंत्रता से पूर्व छत्तीसगढ़ का क्षेत्र मराठों के अधीन नागपुर राज्य का हिस्सा था जिसका 1854 मैं हड़प नीति के तहत डलहौजी ने अधिग्रहण कर लिया और नागपुर सहित छत्तीसगढ़ का क्षेत्र ब्रिटिश राज्य में शामिल कर लिया गया
  • 1861 इसवी को नए प्रांत के रूप में मध्य प्रांत का गठन किया गया छत्तीसगढ़ इसमें शामिल था रायपुर बिलासपुर को जिला बनाया गया 1862 मैं छत्तीसगढ़ को एक संभाग का दर्जा दिया गया जिसके अंतर्गत रायपुर बिलासपुर संबलपुर 3 जिले बनाए गए थे संबलपुर पहले बंगाल प्रांत में था 1862 मैं सेंट्रल प्रोविंस में शामिल किया गया 1905 में बंगाल प्रांत एवं सेंट्रल प्रोविंस का पुनर्गठन हुआ संबलपुर उड़ीसा में शामिल किया गया जिससे वर्तमान छत्तीसगढ़ की सीमाएं स्पष्ट हुई पृथक राज्य की संकल्पना छत्तीसगढ़ में स्वतंत्रता आंदोलन के साथ ही विकसित होती रही 1918 में छत्तीसगढ़ राज्य की प्रथम कल्पना पंडित सुंदरलाल शर्मा ने की थी
  • स्वतंत्रता के समय छत्तीसगढ़ क्षेत्र सेंट्रल प्रोविंस एवं बरार भाग था 1948 में छत्तीसगढ़ के प्रमुख 14 रियासतों का विलय भारत में कर दिया गया जिससे छत्तीसगढ़ की सीमाओं में विस्तार हुआ फजल अली की अध्यक्षता में गठित राज्य पुनर्गठन आयोग के सुझाव के आधार पर जब राज्यों का पुनर्गठन हुआ तो छत्तीसगढ़ अंचल 1 नवंबर 1956 को नवगठित मध्य प्रदेश का हिस्सा बना छत्तीसगढ़ को पृथक राज्य बनाने की मांग के लिए 1956 में राजनांदगांव में छत्तीसगढ़ महासभा का आयोजन किया गया
  • 1967 में राज्यसभा सदस्य डॉ खूबचंद बघेल ने इस विचारधारा को जन आंदोलन का रूप देते हुए छत्तीसगढ़ भातृ संघ का गठन किया उनके बाद प्यारेलाल कँवर रामाधार कश्यप चंदूलाल चंद्राकर ने इसे आंदोलन को विस्तार किया
  • 1998 में संसद के संयुक्त अधिवेशन में राष्ट्रपति ने मध्य प्रदेश से पृथक छत्तीसगढ़ राज्य बनाने की प्रतिबद्धता व्यक्त की तत्पश्चात मध्यप्रदेश विधानसभा में इस हेतु संकल्प पारित किया गया 25 जुलाई 2000 को गृह मंत्री लालकृष्ण आडवाणी ने लोकसभा में मध्य प्रदेश पुनर्गठन विधेयक 2000 प्रस्तुत किया 31 जुलाई 2000 को उपरोक्त विधेयक लोकसभा में पारित हुआ 9 अगस्त 2000 को राज्यसभा में पारित होकर तत्कालीन राष्ट्रपति श्री के आर नारायणन के हस्ताक्षर से अनुमोदित हुआ एवं 25 अगस्त 2000 को प्रकाशित हुआ 1 नवंबर 2000 को मात्री राज्य मध्य प्रदेश से अलग होकर छत्तीसगढ़ देश का 26 वां राज्य बना छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर को बनाया गया तथा बिलासपुर में उच्च न्यायालय की स्थापना हुई
  • 1861 सेंट्रल  प्रोविंस का गठन
  • 1862 सेंट्रल  प्रोविंस में छत्तीसगढ़ को संभाग का दर्जा दिया गया इस संभाग में 3 जिले थे रायपुर बिलासपुर एवं संबलपुर
  • 1905 बंगाल प्रांत एवं सेंट्रल प्रोविंस का पुनर्गठन वर्तमान छत्तीसगढ़ की सीमाएं सुई स्पष्ट हुई
  • 1918 पंडित सुंदरलाल शर्मा ने छत्तीसगढ़ राज्य का स्पष्ट रेखा चित्र खींचे
  • 1924 रायपुर जिला परिषद द्वारा संकल्प पारित कर पृथक छत्तीसगढ़ राज्य की मांग की
  • 1939 कांग्रेस के त्रिपुरी अधिवेशन में पृथक राज्य की मांग
  • 1953 फजल अली की अध्यक्षता में भाषाई आधार पर राज्यों के पुनर्गठन हेतु गठित राज्य पुनर्गठन आयोग के समक्ष मांग
  • 1955 रायपुर के विधायक रामकृष्ण सिंह द्वारा मध्य प्रांत की विधानसभा में मांग
  • 1956, 28 जनवरी द खूबचंद बघेल की अध्यक्षता में राजनांदगांव में छत्तीसगढ़ महासभा का गठन
  • 1956 छत्तीसगढ़ मध्य प्रदेश राज्य का हिस्सा बन गया
  • 1967 रायपुर में सम्मेलन और राष्ट्रपति से पृथक राज्य की मांग
  • 1967 राज्यसभा सदस्य डॉ खूबचंद बघेल द्वारा छत्तीसगढ़ भ्रातृ संघ की स्थापना
  • 1994 विधायक गोपाल परमार का मध्यप्रदेश विधानसभा में अशासकीय संकल्प पारित 1998 1 मई को मध्यप्रदेश विधानसभा में शासकीय संकल्प पारित किया इससे पहले राष्ट्रपति ने छत्तीसगढ़ बनाने की प्रतिबद्धता अपने अभिभाषण में व्यक्त की थी

chhattisgarh latest gk question 2021 | छत्तीसगढ़ ताजा सामान्य ज्ञान 2021

इन्हे भी पढ़े >

सोशल मीडिया ग्रुप

टेलीग्राम ग्रुप

व्हाट्सएप ग्रुप

करेंट जीके क्विज में आप प्रतिदिन जनरल नॉलेज, सरकारी नौकरी, एडमिट कार्ड, सिलेबस, टाइम टेबल की जानकारी और परीक्षा परीक्षा परिणाम की जानकारी ले सकते है

Leave a Comment