इतिहास सम्बन्धी सामान्य ज्ञान

  • मुगल शासन काल में मंत्रिपरिषद को विजारत कहा जाता था
  • मुगल काल में रुपए की सर्वाधिक ढलाई औरंगजेब के समय हुई
  • आना सिक्के का प्रचलन शाहजहां ने करवाया
  • जहांगीर ने अपने समय में सिक्कों पर अपने आकृति बनवाई और उस पर अपना नाम नूरजहां का नाम अंकित करवाया
  • मुगलकालीन अर्थव्यवस्था का आधार चांदी का रुपया था
  • मराठा राज्य का संस्थापक शिवाजी थे शिवाजी का जन्म 6 अप्रैल 1627 ईस्वी में शिवनेर दुर्ग में हुआ था शिवाजी के पिता का नाम शाहजी भोंसले एवं माता का नाम जीजाबाई था शिवाजी के गुरु कोंडदेव थे पुरंदर की संधि 1665 ईस्वी में महाराजा जयसिंह और शिवाजी के मध्य संपन्न हुई 5 जून 1674 ईस्वी को शिवाजी ने वाराणसी के प्रसिद्ध विद्वान श्री गंगा भर द्वारा अपना राज्य अभिषेक करवाया शिवाजी के मंत्रिमंडल को अष्टप्रधान कहा जाता है
  • मुगलकालीन इतिहास में सैयद बंधु हुसैन अली खान एवं अब्दुल्लाह खान को शासक निर्माता के रूप में जाना जाता था
  • 17 मई 1498 ईस्वी में वास्कोडिगामा ने भारत के पश्चिमी तट पर स्थित कालीकट बंदरगाह पहुंचकर भारत एवं यूरोप के बीच नए समुद्री मार्ग की खोज की
  • 1505 ईसवी में फ्रांसिस्को अलमेडा भारत में प्रथम पुर्तगाली वायसराय बंद कराया पुर्तगालियों ने अपनी पहली व्यापारिक कोठी कोचिंग में खोली
  • . डचो ने भारत में अपने प्रथम व्यापारिक कोठी 1605 ईस्वी में मसूलीपट्टनम में स्थापित की
  • भारत में ईस्ट इंडिया कंपनी में 217 साझीदार थे और पहला गवर्नर टॉमस स्मिथा था
  • मुगल दरबार में जाने वाला प्रथम अंग्रेज कैप्टन हॉकिंस था जो जेम्स प्रथम के राजदूत के रूप में अप्रैल 16 से 9 ईसवी में जहांगीर के दरबार में गया था
  • 1674 ईस्वी में फ्रांसिस मार्टिन ने पांडिचेरी की स्थापना की 1761 ईसवी में अंग्रेजों ने पांडिचेरी को फ्रांसीसीयों से छीन लिया
  • 1740 के गिरिया की युद्ध में सरफराज को मारकर बिहार के सर सूबेदार अली वर्दी खान बंगाल का नवाब बन गया इसने अपने शासनकाल में मुगलों को राजस्व देना बंद कर दिया इसके शासनकाल में बंगाल इतना समृद्ध साली बन गया है कि बंगाल को भारत का स्वर्ग कहा जाने लगा
  • प्लासी का युद्ध 23 जून 1757 ईस्वी को अंग्रेजों के सेनापति रॉबर्ट क्लाइव एवं बंगाल के नवाब सिराजुद्दौला के बीच हुआ जिसमें नवाब अपने सेनापति मीर जाफर की धोखाधड़ी करने के कारण पराजित हुआ
  • अंग्रेजों ने मीर जाफर को बंगाल का नवाब बनाया
  • टीपू सुल्तान को शेर ए मैसूर कहा जाता था
  • सिख समुदाय की स्थापना का श्रेय गुरुनानक को है गुरुनानक के अनुयाई सिख कहलाए यह बादशाह बाबर एवं हुमायूं के समकालीन थे गुरु नानक की सन 1539 ईस्वी में करतारपुर में मृत्यु हो गई
  • गुरु अंगद सिखों के दूसरे गुरु थे गुरुमुखी लिपि का आरंभ गुरु अंगद ने किया
  • गुरु अर्जुन सिक्खों के पांचवे गुरु थे जिन्होंने धार्मिक ग्रंथ आदि ग्रंथ की रचना की

Leave a Comment