• एंटी टैंक मिसाइल का सफल परीक्षण
  • भारत में उड़ीसा के चांदीपुर स्थित समेकित परीक्षण केंद्र से स्वदेश में विकसित अपने एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल ध्रुवास्त्र के तीन सफल परीक्षण किए रक्षा सूत्रों ने बुधवार को इस आशय की जानकारी दी ध्रुवा से हमारे पुराने मिसाइल नाग हेलीना का हेलीकॉप्टर संस्करण है इसमें कई नए फीचर्स है और आसमान से सीधे दाग कर  इससे दुश्मन के बंकर बख्तरबंद गाड़ियों और टैंकों को नष्ट किया जा सकता है रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन द्वारा विकसित ध्रुव वास्तु को हेलीकॉप्टर से लांच किया जा सकता है कि वह दुनिया की सबसे आधुनिक एंटी टैंक हथियारों में से एक है उन्होंने बताया कि डीआरडीओ द्वारा विकास के दौरान किए जाने वाले परीक्षणों के तहत इस अत्याधुनिक मिसाइल को 15 जुलाई को दो बार और 16 जुलाई को एक बार लांच किया गया
  • एसबीआई छत्तीसगढ़ को देगा वेंटीलेटर
  • एसबीआई छत्तीसगढ़ को देगा वेंटीलेटर जिससे समाज कल्याण की गतिविधियों को प्रोत्साहन सहयोग प्रदान करते हुए भारतीय स्टेट बैंक ने कोविड-19 के ग्रेस से मरीजों की चिकित्सा के लिए मध्य प्रदेश एंड छत्तीसगढ़ के विभिन्न अस्पतालों को 25 वेंटीलेटर प्रदान करने का निर्णय लिया है
  •      इसरो सार्वजनिक करेगा chandrayaan-2 के आंकड़े
  • दुनिया को मिलेगी अहम जानकारी 22 जुलाई 2019 को हुआ था लॉन्च भारत के दूसरे चंद्र अभियान चंद्रयान-2 के बुधवार को अपने प्रक्षेपण के 1 साल पूरा करने के अवसर पर भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो )ने कहा है कि इसके सभी आठ उपकरण बखूबी काम कर रहे हैं. चंद्रयान-2 को  जीएसएलवी एमके -3 एम 1 राकेट के प्रक्षेपित किया गया था.  इसरो ने कहा था कि चंद्रमा की सतह की तस्वीरें लेना और ध्रुवीय कवरेज अभियान की योजना के मुताबिक किया जा रहा है. वही, चंद्रयान-2 के वैज्ञानिक डेटा को सार्वजनिक रूप से जारी किया जाना अक्टूबर में शुरू होगा. अंतरिक्ष एजेंसी ने कहा,’ चंद्रयान-2 के उपकरणों से व्यापक डाटा प्राप्त किए गए हैं और ध्रुवीय क्षेत्रों में दर्द के रूप में जमे जल की मौजूदगी का पता लगाने की कोशिश की जा रही है इसरो ने कहा कि साथ  ही एक्सरे आधारित और स्पेक्ट्रोस्कोपिक खनिज सूचना तथा आर्गन-40 गैस के ऊंचाई वाले एक निचले स्थानों पर मौजूदगी का पता लगाया जा रहा है.
  • क्यूआर कोड प्रणाली लागू करेगा रेलवे 
  • क्यूआर कोड प्रणाली लागू करेगा रेलवे उत्तर मध्य रेलवे एनसीआर कि अभिनव क्यूआर कोड आधारित संपर्क रहित टिकट जांच प्रणाली पूरे भारतीय रेलवे में लागू करने की तैयारी है सेंटर फॉर रेलवे इनफॉरमेशन सिस्टम्स ने सभी क्षेत्रीय रेलों पर एक सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन लॉन्च किए हैं यात्री के आरक्षित टिकट विवरण को अनूठे क्यूआर कोड के रूप में प्रदर्शित करेगा उत्तर मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी अजीत कुमार सिंह के मुताबिक रेलवे बोर्ड ने संपर्क रहित टिकट जांच प्रणाली के स्कैनिंग को शीघ्र लागू करने के मद्देनजर सभी क्षेत्रीय रेलों को टिकट जांच कर्मचारियों को प्रशिक्षित और जागरूक करने के निर्देश दिए उन्होंने बताया कि वर्तमान में क्यू आर कोड निकालने की व्यवस्था पूरे भारतीय रेल में की जा चुकी है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *