List of Branches of Science in Hindi – विज्ञान की शाखाओं की सूची हिंदी में

विज्ञान में बहुत सारी जानकारियों को जानने के लिए विज्ञान में अलग-अलग शाखाएं होती है जो अलग-अलग जानकारी के अनुसार इन शाखाओं का अध्ययन किया जाता है जिसमें अलग-अलग शाखाओं के अंतर्गत अलग-अलग जानकारियों का अध्ययन किया जाता है इस अध्ययन में जीव विज्ञान, वनस्पति विज्ञान ,प्राणी विज्ञान ,इन सभी चीजों का अध्ययन किया जाता है जिसमें जीव जंतुओं के आणविक संरचना से लेकर वनस्पति विज्ञान के सब्जियों का एवं मधुमक्खी पालन मछली पालन तथा चिकित्सा विज्ञान में कीमो थेरेपी तथा अन्य जानकारियों का List of Branches of Science in Hindi – विज्ञान की शाखाओं की सूची हिंदी में का अध्ययन किया जाता है।

List of Branches of Science in Hindi – विज्ञान की शाखाओं की सूची हिंदी में
List of Branches of Science in Hindi


यह अध्ययन विज्ञान विषय के सामान्य ज्ञान पर जानकारी रखने वालों के लिए तथा विभिन्न प्रकार के प्रतियोगी परीक्षाओं जैसे संघ लोक सेवा आयोग परीक्षा कर्मचारी चयन आयोग परीक्षा रेलवे परीक्षा क्या दी परीक्षाओं में इनसे संबंधित प्रश्नोत्तर अधिकतर पूछे जाते हैं इसके आलावा लेटेस्ट करंट अफेयर्स की जानकारी जो , सामान्य ज्ञान, ताजा करंट अफेयर्स , भारतीय इतिहास ,भूगोल,विज्ञान,गणित,रेलवे,यूपीएससी,कर्मचारी चयन आयोग आदि भर्ती परीक्षा आदि में पूछे जाने वाले में से संबंधित सभी प्रकार की अन्य प्रतियोगी परीक्षा में पूछे जाते है उन सभी वस्तुनिष्ठ प्रश्न उत्तर की जानकारी इस पोस्ट में आप प्राप्त कर सकते है।

 List of Branches of Science in Hindi

  • विज्ञान की कुछ प्रमुख शाखाएं
  • एनाटॉमी:-यह जीव विज्ञान की वह शाखा है जो शरीर की आंतरिक संरचना से संबंधित है।
  • एंथ्रोपोलॉजी:-या विज्ञान की वह शाखा है जिसमें मानव के विकास रीति रिवाज इतिहास परंपराओं से संबंधित विषयों का अध्ययन किया जाता है।
  • एस्ट्रोलॉजी:-या विज्ञान मानव के जीवन पर विभिन्न नक्षत्रों के प्रभाव का अध्ययन करता है इसे ज्योतिष शास्त्र भी कहते हैं
  • एस्ट्रोनॉमी:-यह खगोलीय पिंडों का अध्ययन करने वाला विज्ञान है।
  • सिरेमिक्स:-यह टेक्नोलॉजी की वह शाखा है जो चीनी मिट्टी के बर्तन तैयार करने से संबंधित है।
  • कीमोथेरेपी:-यह चिकित्सा विज्ञान की वह शाखा है जिसमें रासायनिक यौगिकों से उपचार किया जाता है।
  • कॉस्मोलॉजी:-यह समस्त ब्रह्मांड का अध्ययन करने वाली विज्ञान की एक शाखा है।
  • क्रायोजेनिक्स:-यह निम्न ताप के विभिन्न प्रयोगों तथा नियंत्रण का अध्ययन करने वाला विज्ञान है।
  • इकोलॉजी:-यह विज्ञान वनस्पतियों तथा प्राणियों के पर्यावरण या प्रकृति से संबंधों का अध्ययन करता है।
  • एंटोंमोलॉजी:-जंतु विज्ञान की वह शाखा कीट पतंगों का व्यापक अध्ययन करती है।
  • एपिडेमियोलॉजी:-चिकित्सा विज्ञान की वह शाखा महामारी और उनके उपचार से संबंधित है।
  • एक्स बायोलॉजी:-इस विज्ञान के द्वारा पृथ्वी को छोड़कर अन्य ग्रहों एवं उपग्रहों पर जीवन की संभावनाओं का अध्ययन किया जाता है।
  • जियोलॉजी:-भूगर्भ संबंधी अध्ययन उसकी बनावट संरचना आदि का अध्ययन इस विज्ञान के द्वारा किया जाता है।
  • जीरोओंटोलॉजी:-वृद्धा अवस्था से संबंधित तथ्यों का अध्ययन इस विज्ञान के द्वारा किया जाता है।
  • हॉर्टिकल्चर:-फल फूल व साग सब्जी  उगाने बाग लगाने पुष्प उत्पादन का अध्ययन इस विज्ञान के द्वारा किया जाता है।
  • हाइड्रोपैथी:-इस विज्ञान के द्वारा पानी से रोगों की चिकित्सा होती है।
  • हाइजीन:-स्वास्थ्य की देखभाल करने वाला यह स्वास्थ्य का विज्ञान है।
  • होलोग्राफी:-यह लेजर पूंज की सहायता से त्रिविमीय चित्र बनाने वाली एक विधि है।
  • मैमोग्राफी:-यह स्त्रियों में पाए जाने वाले ब्रेस्ट कैंसर की जांच करने वाले चिकित्सा विज्ञान की शाखा है।
  • मिट्रीयोलॉजी:-मौसम की दशाओं में होने वाली क्रियाओं तथा परिवर्तनों का अध्ययन इस विज्ञान के द्वारा किया जाता है।
  • मोरफ़ोलॉजी:-पृथ्वी पर पाए जाने वाले प्राणियों पौधों की संरचना, रूप, प्रकार आदि का अध्ययन इस विज्ञान के द्वारा किया जाता है।
  • न्यूरोलॉजी:-मानव शरीर की नाड़ियों या तंत्रिकाओं का अध्ययन तथा उपचार इस विज्ञान के द्वारा किया जाता है।
  • ओडोन्टोग्राफी:-दांतो का अध्ययन करने वाली चिकित्सा विज्ञान की एक शाखा है।
  • ऑप्टिक्स:-प्रकाश के प्रकार वह गुणों का अध्ययन करने वाली भौतिक शास्त्र की यह एक शाखा है।
  • आर्निथोलॉजी:-इस विज्ञान में पक्षियों से संबंधित अध्ययन किया जाता है।
  • ओस्टियोलॉजी:-प्राणी विज्ञान की इस शाखा में हड्डियों का अध्ययन किया जाता है।
  • पोमोलॉजी:-यह विज्ञान फलों के अध्ययन से संबंधित है।
  • सीस्मोलॉजी:-विज्ञान की इस शाखा द्वारा भूकंप का अध्ययन किया जाता है।
  • एरोनॉटिक्स:-इस विज्ञान की शाखा के अंतर्गत वायुयान संबंधी तथ्यों का अध्ययन होता है।
  • एसथेटिक्स:-इस शाखा के अंतर्गत सौंदर्य शास्त्र का अध्ययन होता है।
  • एग्रोस्टोलॉजी:-यह घास से संबंधित विज्ञान की शाखा है।
  • अरबोरिकल्चर:-यह वृक्ष उत्पादन संबंधी विज्ञान की शाखा है।
  • आर्कियोलॉजी:-यह पुरातत्व संबंधी विज्ञान की शाखा है।
  • एस्ट्रोफिजिक्स:-यह नक्षत्रों के भौतिक रूप से संबंधित खगोलीय अर्थात खगोल भौतिकी विज्ञान की शाखा है।
  • कैलिसथेनिक्स:-इस शाखा के अंतर्गत शारीरिक सौंदर्य एवं शक्ति वर्धक व्यायाम की विधियों संबंधी ज्ञान का अध्ययन होता है।
  • कांकोलॉजी:-इस शाखा के अंतर्गत शंख विज्ञान (मोलस्क विज्ञान) अध्ययन होता है।
  • कॉस्मोगोनी:-इस शाखा के अंतर्गत ब्रह्मांड उत्पत्ति सिद्धांत का अध्ययन होता है।
  • कॉस्मोग्राफी:-इस शाखा के अंतर्गत विश्व रचना संबंधी ज्ञान का ध्यान होता है।
  • क्रिप्टोग्राफी:-इस शाखा के अंतर्गत गूढ़लेखन या बीज लेखन संबंधी ज्ञान का अध्ययन होता है।
  • एपीग्राफी:-इस शाखा के अंतर्गत शीलालेख संबंधी ज्ञान का अध्ययन होता है।
  • एथनोग्राफी:-इस शाखा के अंतर्गत मानव जाति का अब अध्ययन होता है।
  • इथोलॉजी:-इस शाखा के अंतर्गत प्राणियों के आचार तथा व्यवहार का अध्ययन होता है।
  • जेनिकोलॉजी:-इस शाखा के अंतर्गत जीवो के जातियों के विभेदो का अध्ययन होता है।
  • जिओडेसी:-इस शाखा के अंतर्गत भूगणित ज्ञान का अध्ययन किया जाता है।
  • जिओमेडिसिन:-यह औषधी शास्त्र की वह शाखा है जो जलवायु तथा वातावरण का स्वास्थ्य पर प्रभाव का अध्ययन करती है।
  • हिलियोथैरेपी:-सूर्य के प्रभाव से चिकित्सा करने की प्रक्रिया कहते हैं।
  • हाइड्रोपोनिक्स:-इस शाखा के अंतर्गत जल संवर्धन का अध्ययन किया जाता है।
  • हाइड्रोस्टेटिक्स:-इस शाखा के अंतर्गत द्रव स्थैतिक का अध्ययन होता है।
  • लैक्सिकोग्राफी:-यह शब्दकोश संकलन तथा लिखने की कला है।
  • न्यूमैरोलॉजी:-यह विज्ञान की वह शाखा है जिसमें अंको का अध्ययन किया जाता है।
  • न्यूमिसमेटिक्स:-इस विज्ञान की शाखा के अंतर्गत पुराने सिक्कों का अध्ययन होता है।
  • फिकोलॉजी:-इस शाखा के अंतर्गत शैवाल का  अध्ययन होता है।
  • सेलिनोलॉजी:-इस शाखा के अंतर्गत चंद्रमा के मूल स्वरूप तथा गति के वर्णन का अध्ययन किया जाता है।
  • सेरीकल्चर:-इस शाखा के अंतर्गत रेशम के कीड़े के पालन और उनसे रेशम के उत्पादन का अध्ययन होता है।
  • टेलीपैथी:-इस शाखा के अंतर्गत मानसिक संक्रमण की प्रक्रिया का अध्ययन होता है।
  • हिप्नोलॉजी:-इस शाखा के अंतर्गत नींद का अध्ययन होता है।
  • टोक्सिकोलॉजी:-इस शाखा के अंतर्गत विष के बारे में अध्ययन होता है।
  • चिकित्सा संबंधी आविष्कार
आविष्कारआविष्कारक
विटामिन फंक
विटामिन बीमैकुलन
विटामिन डी  हापकिंस
होम्योपैथीहैनीमैन
टेरामाइसीनफीनेल
आर. एन .ए.जेम्स वाटसन तथा आर्थर अर्ग
मलेरिया परजीवी व चिकित्सारोनाल्ड रास
विटामिन एमैकुलन
विटामिन सीहोलकट
लिंग हार्मोनस्टेनाच
इंसुलिनबेटिंग
चेचक का टीकाएडवर्ड जेनर
टी. बी. बैक्टीरियारॉबर्ट कोच
पेनिसिलिनएलेग्जेंडर फ्लेमिंग
डी.एन.ए.जेम्स वाटसन तथा क्रिक
बी.सी.जी.यूरिन कॉलमेट  
हृदय प्रत्यारोपणक्रिस्चियन बरनार्ड
बैक्टीरियाल्यूवेन हॉक

सोशल मीडिया ग्रुप

टेलीग्राम ग्रुप

currentgkquiz.in में आप प्रतिदिन जनरल नॉलेज, सरकारी नौकरी, एडमिट कार्ड, सिलेबस, टाइम टेबल की जानकारी और परीक्षा परीक्षा परिणाम की जानकारी ले सकते है

Leave a Comment