Manufacturing Industries in India | भारत में विनिर्माण उद्योग

भारत के प्रमुख उद्योगों का विस्तृत विवरण (Manufacturing Industries in India | भारत में विनिर्माण उद्योग)हेतु करंट अफेयर्स का विवरण के आलावा लेटेस्ट करंट अफेयर्स की जानकारी जो , सामान्य ज्ञान, ताजा करंट अफेयर्स , भारतीय इतिहास ,भूगोल,विज्ञान,गणित,यूपीएससी,कर्मचारी चयन आयोग आदि भर्ती परीक्षा आदि में पूछे जाने वाले में से संबंधित सभी प्रकार की अन्य प्रतियोगी परीक्षा में पूछे जाते है उन सभी वस्तुनिष्ठ प्रश्न उत्तर की जानकारी इस पोस्ट में आप प्राप्त कर सकते है

Manufacturing Industries in India
Manufacturing Industries in India | भारत में विनिर्माण उद्योग

Manufacturing Industries in India | भारत में विनिर्माण उद्योग

  • भारत के उद्योग का भारत के लोगों से बहुत ही गहरा संबंध है क्योंकि भारतीय उद्योग के कारण करोड़ों भारतीयों को इन उद्योगों के कारण रोजगार मिल रहा है और इन उद्योगों के कारण भारत का निरंतर विकास हो रहा है देश विदेश में विभिन्न प्रकार के उद्योगों से विभिन्न वस्तुओं का आयात निर्यात हो रहा है जिससे भारत के राजस्व आय में वृद्धि लगातार हो रही है
  • भारत के उद्योग निम्नलिखित हैं
  • 1 .लौह इस्पात.उद्योग :-देश में पहला लौह इस्पात कारखाना 1874 में कुल्टी पश्चिम बंगाल नामक स्थान पर बराकर लौह कंपनी के रूप में स्थापित किया गया था
  • देश में सबसे पहला बड़े पैमाने का कारखाना 1960 में तत्कालीन बिहार राज्य में स्वर्ण रेखा नदी की घाटी में साकची नामक स्थान पर जमशेदजी टाटा द्वारा स्थापित किया गया था
  • स्वतंत्रता के पूर्व स्थापित लौह इस्पात कारखाना
  • 1.भारतीय लौह इस्पात कंपनी:- इसकी स्थापना 1908 में पश्चिम बंगाल की दामोदर नदी घाटी में हीरापुर नामक स्थान पर की गई थी
  • 2.मैसूर आयरन एंड स्टील वर्क्स:- 1923 में मैसूर राज्य वर्तमान कर्नाटक के भद्रावती नामक स्थान पर स्थापित की गई थी इस का वर्तमान नाम विश्वेश्वरैया आयरन एंड स्टील कंपनी लिमिटेड है
  • 3.स्टील कारपोरेशन ऑफ़ बंगाल:- इसके स्थापना1937 मैं बरना पूर पश्चिम बंगाल में की गई बाद में 1953 में इसे भारती लौह इस्पात कंपनी में मिला दिया गया
  • स्वतंत्रता के पश्चात स्थापित लौह इस्पात कारखाना
  • 1.दूसरी पंचवर्षीय योजना (1956_1961) में स्थापित कारखाना
  • 1.भिलाई इस्पात संयंत्र इसकी स्थापना:- 1955 में तत्कालीन मध्यप्रदेश के भिलाई दुर्ग जिला वर्तमान छत्तीसगढ़ राज्य मैं पूर्व सोवियत संघ की सहायता से की गई थी
  • 2.हिंदुस्तान स्टील लिमिटेड राउरकेला:- इसकी स्थापना उड़ीसा के राउरकेला नामक स्थान पर पश्चिमी जर्मनी की सहायता से की गई थी
  • 3. हिंदुस्तान स्टील लिमिटेड दुर्गापुर:- इसकी स्थापना 1956 में पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर नामक स्थान पर ब्रिटेन की सहायता से की गई थी
  • 2.तृतीय पंचवर्षीय योजना काल में स्थापित कारखाना
  • बोकारो स्टील प्लांट इसकी स्थापना:- 1968 में तत्कालीन बिहार राज्य वर्तमान झारखंड राज्य के बोकारो नामक स्थान पर पूर्व सोवियत संघ की सहायता से की गई थी
  • 3.चौथी पंचवर्षीय योजना काल में स्थापित कारखाना
  • 1.सलेम  इस्पात संयंत्र:- सलेम (तमिलनाडु)
  • 2.विशाखापट्टनम इस्पात संयंत्र:- विशाखापट्टनम (आंध्र प्रदेश)
  • 3.विजयनगर इस्पात संयंत्र:- हॉस्पेट बेलारी जिला (कर्नाटक)
  • स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया(SAIL ):- 1974 में सरकार ने स्टील अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया लिमिटेड की स्थापना की दुर्गापुर, भिलाई ,राउरकेला ,बोकारो ,बर्नपुर ,सलेम ,विश्वेश्वरैया आयरन स्टील कंपनी का प्रबंधन इसी के अधीन है
  • वर्ष 2011 में भारत चीन जापान तथा यूएसए के बाद विश्व का चौथा सबसे बड़ा इस्पात उत्पादक देश है स्पंज आयरन के उत्पादन में भारत का विश्व में प्रथम स्थान है
  • 2.एल्युमिनियम उद्योग
  • भारत में एलुमिनियम का पहला कारखाना 1937 में पश्चिम बंगाल में आसनसोल के निकट जेके नगर में स्थापित किया गया था
  • 1938 में चार कारखाने तत्कालीन बिहार राज्य के मुरी केरल के हलवाई यह पश्चिम बंगाल के वेल्लूर तथा उड़ीसा का हीराकुंड में स्थापित किए गए
  • हिंदुस्तान एल्युमीनियम कारपोरेशन हिंडालको की स्थापना तत्कालीन मध्यप्रदेश के कोरबा नामक स्थान पर की गई
  • मद्रास एल्युमीनियम कंपनी तमिलनाडु के मैटूर नामक स्थान पर स्थापित की गई
  • एल्युमिनियम उत्पादन करने में भारत का विश्व में आठवां स्थान है
  • भारत की प्रमुख एल्युमीनियम कंपनी
कंपनीसहायक देशप्रमुख केंद्र
बाल्कोसोवियत संघकोरबा एवं कोएना
नाल्कोफ्रांसदामन जोड़ी (उड़ीसा)
हिंडाल्कोयू.एस.एरेणुकूट (उत्तर प्रदेश)
इण्डाल्को  कनाडाजे.के. नगर, मूरी,अलवाय
मालकोइटलीचेन्नई, मेट्टूर, सेलम
वेदांताजर्मनीझारसुगुड़ा
  • 3.सूती वस्त्र उद्योग
  • सूती वस्त्र उद्योग आधुनिक ढंग से सूती वस्त्र की पहली मिल की स्थापना 1818 में कोलकाता के समीप फोर्ट ग्लास्टर मैं की गई थी किंतु यह असफल रही थी
  • सबसे पहला सफल आधुनिक सूती कपड़ा कारखाना 1854 मुंबई में कवासजी डावर द्वारा खोला गया जिसमें 1856 से उत्पादन प्रारंभ हुआ
  • सूती वस्त्र उद्योग का सर्वाधिक केंद्रीकरण महाराष्ट्र एवं गुजरात राज्य में है अन्य प्रमुख राज्य हैं पश्चिम बंगाल मध्य प्रदेश तमिलनाडु आंध्रप्रदेश केरल उत्तर प्रदेश
  • मुंबई को भारत के सूती वस्त्र के राजधानी के उपनाम से जाना जाता है
  • कानपुर को उत्तर भारत का मैनचेस्टर कहा जाता है
  • कोयंबटूर को दक्षिण भारत का मैनचेस्टर कहा जाता है p
  • अहमदाबाद को भारत का बोस्टन कहा जाता है
  • भारतीय अर्थव्यवस्था में कपड़ा उद्योग के स्थान कृषि के बाद दूसरा है या भारत का सबसे प्राचीन उद्योग है यह देश का सबसे बड़ा संगठित एवं व्यापक उद्योग है उद्योग देश में कृषि के बाद रोजगार प्रदान करने वाला दूसरा सबसे बड़ा क्षेत्र है
  • औद्योगिक उत्पादन में वस्त्र उद्योग का योगदान 14% है देश के सकल घरेलू उत्पाद जीडीपी में है उद्योग 4% एवं निर्यात आय का सात से 8% प्रतिशत की आपूर्ति करता है
  • 4.जूट उद्योग
  • जूट उद्योग सोने का रेशा के नाम से मशहूर जूट के रेशों  से सामानों का निर्माण करने में भारत का विश्व में प्रथम स्थान प्राप्त है
  • इसका पहला कारखाना कोलकाता के समीप रिशरा नामक स्थान में 1859 में लगाया गया था भारतीय जूट निगम की
  • स्थापना 1971 में जूट के आयात निर्यात एवं आंतरिक बाजार की देखभाल के लिए की गई है
  • भारत विश्व के 35% जूट के सामानों का निर्माण करता है और दूसरा बड़ा निर्यातक राष्ट्र है
  • जूट उद्योग से संबंधित प्रमुख स्थान 
  • पश्चिम बंगाल:-टीटागढ़ , रिशरा, बाली, अगर ,पारा, बांसबेरिया, कान किनारा ,उल्बेरिया ,सीरामपुर, बजबज, हावड़ा ,श्याम नगर, शिवपुर, बिरलापुर, होलीनगर, बैरकपुर
  • आंध्र प्रदेश:-विशाखापट्टनम, गुंटुर
  • उत्तर प्रदेश:-कानपुर ,सहजनवा ( गोरखपुर)
  • बिहार:-पूर्णिया ,कटिहार ,सहरसा, दरभंगा
  • अंतर्राष्ट्रीय जूट संगठन की स्थापना 1984 में हुई थी इसका मुख्यालय ढाका में है
  • 5.चीनी उद्योग
  • चीनी उद्योग मुख्यतः उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, बिहार, तमिलनाडु, मध्य प्रदेश, आंध्र प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, पश्चिम बंगाल एवं राजस्थान राज्य में है
  • इन राज्यों के निम्न शहर चीनी उद्योग से संबंधित हैं
  • उत्तर प्रदेश:-देवरिया, भटनी, गोरखपुर, गौरी बाजार ,सिसवा बाजार ,बस्ती, गोंडा, बलरामपुर ,बाराबंकी, हरदोई ,बिजनौर ,मेरठ, सहारनपुर मुरादाबाद ,बुलंदशहर ,कानपुर, फैजाबाद एवं मुजफ्फरनगर आदि
  • बिहार:-मोतिहारी ,सुगौली ,मझौलिया, चनपटिया, नरकटियागंज, सासामुसा ,गोपालगंज, मोतीपुर, डालमियानगर, समस्तीपुर ,दरभंगा, चंपारण हसनपु,र मुजफ्फरपुर आदि
  • महाराष्ट्र:-नासिक ,अहमदनगर ,पुणे, सोलापुर एवं कोल्हापुर
  • पश्चिम बंगाल:-पलासी ,हावड़ा एवं मुर्शिदाबाद आदि
  • पंजाब:-हमीरा ,फगवाड़ा, अमृतसर
  • हरियाणा:-जगधारी एवं रोहतक
  • तमिलनाडु:-मदुरई, कोयंबटूर, तिरुचिरापल्ली
  • आंध्रप्रदेश:-सीतापुरम, पीथापुरम, बेजवाड़ा ,हैदराबाद आदि
  • राजस्थान:-गंगानगर ,भूपाल सागर
  • आर्थिक समीक्षा 2011_12 के अनुसार भारत चीनी का सबसे बड़ा उपभोक्ता है और ब्राजील के बाद दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक देश है
  • वर्ष 2011 के आंकड़ों के अनुसार उत्तर प्रदेश  चीनी उत्पादन में प्रथम स्थान पर है और चीनी उत्पादित कर महाराष्ट्र दूसरे स्थान पर
  • 6.सीमेंट उद्योग
  • सीमेंट उद्योग विश्व में सबसे पहले आधुनिक रूप से सीमेंट का निर्माण 1824 में ब्रिटेन के पोर्टलैंड नामक स्थान पर किया गया था
  • भारत में आधुनिक ढंग से सीमेंट बनाने का पहला कारखाना 1904 मद्रास में लगाया गया था जो असफल रहा
  • मद्रास के कारखाने के बाद 1912 _13 की अवधि में इंडियन सीमेंट कंपनी लिमिटेड द्वारा गुजरात के पोरबंदर नामक स्थान पर कारखाने की स्थापना की गई जिसमें 1914 से उत्पादन प्रारंभ हुआ
  • एसोसिएट सीमेंट कंपनी लिमिटेड (एसीसी) की स्थापना 1936 में की गई थी
  • भारत के सीमेंट उत्पादक प्रमुख राज्य
  • राजस्थान:-जयपुर, लखेरी
  • मध्य प्रदेश:-सतना, कटनी, जबलपुर,  रतलाम आदि
  • छत्तीसगढ़:-दुर्ग ,जामुल ,तिल्दा ,मंधार
  • उत्तर प्रदेश:-मिर्जापुर, चुर्क
  • झारखंड:-जपला ,कल्याणपुर, सिंदरी, झिंकपानी आदि
  • उड़ीसा:-राजगंगपुर
  • आंध्र प्रदेश:-कृष्णा, विजयवाड़ा, पनयम आदि
  • कर्नाटक:-भोजपुर ,भद्रावती, बंगलुरु आदि
  • तमिलनाडु:-डालमियापुरम ,मधुक राय
  • केरल:-कोट्टायम
  • गुजरात:-पोरबंदर ,भावनगर ,सेवालियम, राणा राय
  • पंजाब:-सूरजपुर
  • हरियाणा:-चरखी, दादरी
  • 7.कागज उद्योग
  • कागज उद्योग आधुनिक ढंग से भारत में कागज का पहला कारखाना 1716 में मद्रास के समीप ट्रकवार नामक स्थान पर डॉक्टर विलियम कोर द्वारा स्थापित किया गया जो असफल रहा
  • कागज का पहला सफल कारखाना 1879 में लखनऊ में लगाया गया
  • मध्यप्रदेश के नेपानगर में अखबारी कागज तथा होशंगाबाद में नोट छापने के कागज बनाने का सरकारी कारखाना है
  • कागज के प्रमुख उत्पादक राज्य हैं
  • पश्चिम बंगाल:-टीटागढ़ ,रानीगंज, त्रिवेणी, कोलकाता, हुगली ,बड़ा नगर आदि
  • आंध्र प्रदेश:-सिरपुर, कागजनगर, तिरुपति आदि
  • उत्तर प्रदेश:-सिकंदराबाद ,मेरठ, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, लखनऊ आदि
  • झारखंड:-संथाल ,परगना
  • बिहार:-बरौनी, पटना ,समस्तीपुर आदि
  • मध्य प्रदेश:-नेपानगर (अखबारी कागज बनाने का सरकारी कारखाना)
  • तमिल नाडु:-पट्टीपलायम, चरणमहादेवी, उदमलपेट, पालनी आदि
  • महाराष्ट्र:-मुंबई, पुणे, चंद्रपुर, कल्याण, रोहा, पिंपरी आदि
  • गुजरात:-सूरत, वडोदरा, राजकोट, उदवाड़ा आदि
  • 8.रसायनिक उर्वरक उद्योग
  • रसायनिक उर्वरक उद्योग ऐतिहासिक रूप से देश में सुपर फास्फेट उर्वरक का पहला कारखाना 1906 तमिलनाडु के रानीपेट नामक स्थान पर स्थापित किया गया था
  • 1944 में कर्नाटक के वैली गुला नामक स्थान पर मैसूर केमिकल्स एंड फर्टिलाइजर्स के नाम से अमोनिया उर्वरक का कारखाना लगाया गया
  • 1947 में अमोनियम सल्फेट का पहला कारखाना केरल के अलवाए नामक स्थान पर खोला गया
  • भारतीय उर्वरक निगम की स्थापना 1951 में की गई जिसके तहत एशिया का सबसे बड़ा उर्वरक संयंत्र सिंदरी में स्थापित किया गया
  • भारत विश्व का तीसरा सबसे बड़ा रासायनिक उर्वरक उत्पादक एवं उपभोक्ता है
  • भारत पोटाश उर्वरक के लिए पूरी तरह आयात पर निर्भर है
  • भारत में नाइट्रोजन उर्वरक की खपत सबसे अधिक है
  • भारत में प्रति हेक्टेयर उर्वरक खपत में प्रथम स्थान पंजाब का है और दूसरा एवं तीसरा स्थान क्रमशः आंध्रप्रदेश हरियाणा का है
  • कोक आधारित उर्वरक इकाइयां तालचर (उड़ीसा )रामागुंडम (आंध्र प्रदेश) तथा कोरबा (छत्तीसगढ़) में अवस्थित है
  • भारत के प्रमुख रासायनिक उर्वरक उत्पादक राज्य
  • झारखंड:-सिंदरी
  • बिहार:-बरौनी
  • उत्तर प्रदेश:-कानपुर, गोरखपुर ,इलाहाबाद
  • उड़ीसा:- राउरकेला, तलचर
  • राजस्थान:-खेतड़ी, कोटा आदि
  • महाराष्ट्र:-मुंबई, ट्रॉम्बे, अंबरनाथ आदि
  • पश्चिम बंगाल:- बर्नपुर, हल्दिया
  • कर्नाटक:-मुनीराबाद, बेलागुला
  • तमिल नाडु:-रानीपेट, कोयंबटूर, मनाली आदि
  • गुजरात:-बड़ोदरा, हजीरा, भावनगर
  • आंध्र प्रदेश:-विशाखापट्टनम, मौलाअली (हैदराबाद), रामागुंडम आदि
  • IFFCO  इफको की 6 इकाइयां  कांडला गुजरात फूलपुर एवं आंवला उत्तर प्रदेश में है
  • गैस आधारित यूरिया अमोनिया संयंत्र हजीरा गुजरात में है
  • उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर एवं जगदीशपुर के कारखाना भी गैस आधारित है
  • 9.जलयान निर्माण उद्योग
  • जलयान निर्माण उद्योग भारत में जलयान निर्माण का प्रथम कारखाना 1941 में सिंधिया स्टीम नेवीगेशन कंपनी द्वारा विशाखापट्टनम में स्थापित किया गया था 1952 में भारत सरकार द्वारा इसका अधिग्रहण करके हिंदुस्तान शिपयार्ड विशाखापट्टनम नाम दिया गया है
  • सार्वजनिक क्षेत्र की अन्य इकाइयां जो जलयान का निर्माण करती है
  • 1.गार्डेनरीच वर्कशॉप लिमिटेड कोलकाता पश्चिम बंगाल
  • 2.गोवा शिपयार्ड लिमिटेड गोवा तीसरा मझगांव डॉक लिमिटेड मुंबई
  • 10.महाराष्ट्र वायुयान निर्माण उद्योग
  • भारत में वायु यान निर्माण का प्रथम कारखाना 1940 में बेंगलुरु में हिंदुस्तान एयरक्राफ्ट कंपनी का नाम से स्थापित किया गया है अभी से हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड के नाम से जाना जाता है आज बेंगलुरु में ही इसकी 5 इकाइयां तथा कोरापुट नासिक बैरकपुर लखनऊ हैदराबाद तथा कानपुर में 11 इकाइयां वायुयान के निर्माण कार्य में संलग्न है
  • 11.मोटर गाड़ी उद्योग
  • मोटर गाड़ी उद्योग को विकास उद्योग के नाम से जाना जाता है
  • इस उद्योग से संबंधित प्रमुख इकाइयां हैं हिंदुस्तान मोटर कोलकाता, प्रीमीयर ऑटोमोबाइल्स लिमिटेड मुंबई अशोक लीलैंड चेन्नई ,टाटा इंजीनियरिंग एंड लोकोमोटिव कंपनी लिमिटेड ,जमशेदपुर महिंद्रा एंड महिंद्रा लिमिटेड पुणे ,मारुति उद्योग लिमिटेड गुड़गांव हरियाणा, सनराइज इंडस्ट्रीज बेंगलुरु
  • 12.शीशा उद्योग
  • भारत में शिक्षा उद्योग का केंद्रीकरण रेल की सुविधा वाले स्थानों में देखने में मिलता है इस उद्योग का विकास मुख्य रूप से पश्चिम बंगाल उत्तर प्रदेश महाराष्ट्र एवं तमिलनाडु राज्य में हुआ है
  • फिरोजाबाद एवं शिकोहाबाद भारत में शिक्षा उद्योग का महत्वपूर्ण केंद्र है
  • शीशा उद्योग के महत्वपूर्ण केंद्र
  • पश्चिम बंगाल:-सीतारामपुर, बेल गछिया, रानीगंज आदि
  • उत्तर प्रदेश:-नैनी ,इलाहाबाद, रामनगर, वाराणसी ,बालावाली बिजनौर एवं फिरोजाबाद
  • झारखंड:-भुरकुंडा ,हजारीबाग ,धनबाद आदि
  • बिहार:- पटना एवं कहलगांव
  • महाराष्ट्र:-मुंबई ,पुणे, दादर, सतारा, सोलापुर, नागपुर
  • गुजरात:- बड़ौदा, मोरवी
  • राजस्थान:-जयपुर
  • अन्य स्थान:-अंबाला अमृतसर हैदराबाद जबलपुर बेंगलुरु एवं गुवाहाटी
  • 13.दवा निर्माण उद्योग
  • प्रमुख स्थान:-मुंबई दिल्ली कानपुर हरिद्वार ऋषिकेश अहमदाबाद पुणे मथुरा हैदराबाद आदि
  • अभियांत्रिकी उद्योग
  • प्रमुख स्थान:-दुर्गापुर विशाखापट्टनम नैनी इलाहाबाद बेंगलुरु अजमेर जादवपुर कोलकाता आदि
  • भारी इंजीनियरिंग निगम लिमिटेड रांची की स्थापना 1958 में की गई थी
  • 14. रेल उपकरण उद्योग
  • भारत रेल के इंजनों सवारी डिब्बों तथा माल ढोने वाले डिब्बों के निर्माण में पूर्णता आत्मनिर्भर है
  • चितरंजन पश्चिम बंगाल रेल के इंजन बनाने का सबसे पुराना कारखाना है इस कारखाने की स्थापना 26 जनवरी 1950 के दिन चितरंजन लोकोमोटिव वर्क्स के नाम से हुई वर्तमान में वहां विद्युत इंजन का निर्माण हो रहा है
  • डीजल से चलने वाले इंजनों का निर्माण वाराणसी में होता है
  • रेलवे इंजन निर्माण का कार्य जमशेदपुर झारखंड में भी होता है
  • रेल के डिब्बे बनाने का प्रमुख केंद्र चेन्नई के समीप पेरंबूर नामक स्थान पर 1925 में स्थापित किया गया है इसके अन्य प्रमुख केंद्र बेंगलुरु तथा कोलकाता है पंजाब के कपूरथला में इंटीग्रल कोच फैक्ट्री की स्थापना की गई है रायबरेली उत्तर प्रदेश में रेलवे कोच फैक्ट्री कि नहीं उत्पादन इकाई लगाई गई है केरल के पाला कार्ड में भी रेल कोच फैक्ट्री लगाया जा रहा है पश्चिम बंगाल के दनकुनी में विद्युत व डीजल इंजन के अवयव बनाने की फैक्ट्री लगाई जा रही हैं
  • 15.बिजली के सामान:-भोपाल, हरिद्वार, हैदराबाद के निकट रामचंद्रपुरम, तिरुचिरापल्ली एवं कोलकाता
  • 16.टेलीफोन उद्योग:- बंगलुरु एवं रूपनारायणपुर, कोलकाता
  • 17.अभियांत्रिकी
  • उद्योग प्रमुख स्थान:- हटिया (रांची), दुर्गापुर, विशाखापट्टनम, नैनी (इलाहाबाद) ,बेंगलुरु, अजमेर जादवपुर, कोलकाता आदि
  • भारी इंजीनियरिंग निगम लिमिटेड एचईसी रांची की स्थापना 1958 में की गई थी
  • 18.ऊनी वस्त्र:-भारत में ऊनी वस्त्र के पहली फैक्ट्री 1876 मैं कानपुर में स्थापित की गई परंतु इस उद्योग का वास्तविक विकास 1950 के बाद ही हुआ है
  • वर्तमान समय में ऊनी वस्त्र उद्योग मुख्य रूप से पंजाब हरियाणा उत्तर प्रदेश ,महाराष्ट्र ,गुजरात राज्य में स्थित है
  • पंजाब में लुधियाना, जालंधर ,धारीवाल ,अमृतसर महत्वपूर्ण केंद्र है
  • ऊनी वस्त्र के महत्वपूर्ण केंद्र
  • उत्तर प्रदेश:-मिर्जापुर, आगरा, मुजफ्फरनगर, शाहजहांपुर
  • पंजाब:-अमृतसर, धारीवाल
  • जम्मू कश्मीर:-श्रीनगर
  • राजस्थान:-जयपुर, भीलवाड़ा, बीकानेर, जोधपुर
  • कर्नाटक:-बेंगलुरु ,मैसूर
  • 19.रेशम उद्योग
  • भारत एक ऐसा देश है जहां शहतूत तेरी तसर एवं मूंगा सभी 4 किस्मों की रेशम का उत्पादन होता है मूंगा रेशम उत्पादन में भारत को एकाधिकार प्राप्त है
  • कर्नाटक देश का 41% से अधिक कच्चा रेशम उत्पादन करता है यहां देश का 56% रेशमी धागा बनाया जाता है
  • रेशम उत्पादन आंध्र प्रदेश दूसरे स्थान पर है
  • भारत के कुल कपड़ा निर्यात में रेशमी वस्त्रों का योगदान लगभग 3% है
  • गैर शहतूत रेशम मुख्यतः असम बिहार और मध्य प्रदेश से प्राप्त होता है
  • रेशम उद्योग के प्रमुख केंद्र
  • जम्मू कश्मीर:-श्रीनगर ,जम्मू, उधमपुर, अनंतनाग, बारामूला
  • पंजाब:-अमृतसर, गुरदासपुर, होशियारपुर, लुधियाना
  • उत्तर प्रदेश:-मिर्जापुर ,वाराणसी ,शाहजहांपुर
  • पश्चिम बंगाल:-मुर्शिदाबाद ,बांकुरा, हावड़ा, 24 परगना
  • तमिल नाडु:-सलेम, तंजौर, तिरुचिरापल्ली, कोयंबटूर
  • बिहार:-भागलपुर ,गया ,पटना
  • कर्नाटक:-बेंगलुरु, मैसूर
  • गुजरात:-अहमदाबाद, सूरत ,भावनगर, पोरबंदर
  • 20.चर्म उद्योग
  • भारत में चर्म उद्योग के मुख्य केंद्र कानपुर आगरा मुंबई कोलकाता पटना तथा बेंगलुरु है
  • कानपुर चर्म उद्योग का सबसे बड़ा केंद्र है यह जूते बनाने के लिए प्रसिद्ध है
  • आगरा में चर्म उद्योग के लगभग 150 कारखाने हैं

Manufacturing Industries in India

इसे भी पढ़े >लेटेस्ट करंट अफेयर्स सामान्य ज्ञान छत्तीसगढ़ 

सोशल मीडिया ग्रुप

टेलीग्राम ग्रुप

व्हाट्सएप ग्रुप

करेंट जीके क्विज में आप प्रतिदिन जनरल नॉलेज, सरकारी नौकरी, एडमिट कार्ड, सिलेबस, टाइम टेबल की जानकारी और परीक्षा परीक्षा परिणाम की जानकारी ले सकते है।

Leave a Comment